बाढ़ के तेज बहाव से भक्त की जान बचने आये बजरंगबली

जब कोई साथ न दे ,हर तरफ से संकट व्यक्ति को घेर ले , जीवन समस्याओं से भर जाए उस समय सिर्फ व्यक्ति को भगवान् ही याद आते है , और भगवान् भी अपने सच्चे भक्त क सहयता जरूर ही करते है।  ऐसा ही एक चमत्कार हुआ देव नाम के दिल्ली में रहने वाले बालक के साथ।  देव के माता पिता ने उसे बचपन से ही रामयण सुनाई व दिखाई और हनुमान जी के किए बड़े बड़े चमत्कारों के बारे में भी बताया जिसके कारण देव हनुमान जी के व्यक्तित्व से काफी प्रभावित हुआ और हनुमान जी की पूजा पाठ एवं आराधना में लग गया। परन्तु बजरंगबली के ऐसे असीम भक्त पर कुछ ऐसा संकट आने वाला था जो कोई सोच भी नहीं सकता था।

परन्तु आगे बढ़ने से पहले आगे बढ़ने से पहले यदि आप हमारे चैनल पर नए है तो चैनल को सब्सक्राइब अवश्य कर दे और साथ ही नीचे दिए गए घंटी के बटन को दबाना ना भूले। 
 देव ने हाल ही में अपनी 12वी की परीक्षा की और अपने दोस्तों के साथ उत्तराखंड घूमने के लिए चला गया। उत्तराखंड जाकर देव व उसके दोस्तों ने सबसे पहले हरिद्वार के दर्शन किये ऋषिकेश में भी अच्छे से गुमकर  लक्मण झूला और भी कई स्थानों पर भ्रमण  किया।  तब किसी ने उन सभी को बताया यहाँ से कुछ ही दूर चमोली गांव है , जो घूमने के लिए उत्तम स्थान है।  चमोली में एक अलग ही कुदरत का करिश्मा है और वह से ऋषिगंगा निकलती है और वह बेहद ही अतभुद है।

  देव और उसके साथी यह सब सुन अतिउत्सुक होकर अगले ही दिन चमोली के लिए निकल गए।  पर वह सभी आने वाले खतरे से अनजान थे।  उन सभी ने चमोली में सारे पर्यटन स्थलों का भ्रमण  किया और सबसे आखिर में ऋषिगंगा के तट पर पहुंचे , पानी का भहाव बहुत तेज था नदी खतरे के निशान से  ऊपर बह रही थी देव व उसके कुछ साथियों ने और आगे जाने से मन किया परन्तु कुछ साथी कहने लगे की कुछ नहीं होगा डरने की कोई आवशयक्ता नहीं है।

 सभी ने उनकी बात मान ली और गंगा के पास जा पहुंचे।  कुछ देर बाद ऋषिगंगा के पीछे से तेज भहाव के साथ बढ़ आ गयी सभी वहाँ से अपनी अपनी जान बचाने के लिए भाग खड़े हुए परन्तु देव बाढ़ की चपेट में आकर पानी के साथ बहने लगा।  कुछ ही पलो में सारा चमोली गांव में से भर गया और देव पानी के साथ बहता  हुआ आगे चला जा रहा था उसके दोस्तों ने उसे बचने का प्रयास करना तो चाहा परन्तु कोई रस्सी या संसाधन न होने के कारण वह कुछ कर न सके।

 देव ने बहते  हुए चिल्ला चिल्ला कर मदद की गुहार लगाई परन्तु कोई नहीं आया तभी  पेड़ से एक वानर पानी में खुद गया और अपने दाँतों से देव की शर्ट को पकड़ उसे खींचने लगा देव को नहीं समज आया ये क्या हो रहा है।  और देखते ही देखते वह वानर पानी के इतने तेज़ बहाव  के अंदर से सारे गांव  वालो के सामने से देव को पानी से बहार ले आया और उसे एक बड़े से ऊँचे चबूतरे के पास लेकर  छोड़ दिया साथ ही  पलक  झपकते ही वहाँ से गायब भी हो गया।  एक वानर का ऐसा चमत्कार देख सभी हैरान रह गए।  तब देव और उसके साथियों को ज्ञात हुआ की हनुमान जी वानर रूप में आकर देव के प्राणो रक्षा की है। 

दर्शको  कैसी लगी आपको हमारी कहानी कमेंट बॉक्स में बताना ना भूले ,ऐसे ही रोचक तथ्यों एवं सत्य घटना पर आधारित कहानियों की जानकारी सबसे पहले पाने के लिए हमारे चैनल को सब्सक्राइब करे और नीचे दिए घंटी के बटन को  अवश्य दबा दे।  

साथ ही यदि आपके पास भी किसी भी देवी देवता से जुडी कोई सत्य घटना है तो आप उसे डिस्क्रिप्शन में दिए नंबर पर हमारे साथ साझा कर सकते है।  

NeerajCC
We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

Prabhubhakti
Logo
Enable registration in settings - general
Shopping cart