Parad Shivlingam

1,250.00

शास्त्रों में यह वर्णन है की लंकापति रावण ने विश्वकर्मा से पारद शिवलिंग को बनवाया था और उसे लंका में स्थापति किया था. यही कारण था की तीनो लोको में सबसे अधिक शक्तिशाली और अभेद्य दुर्ग बन गया था लंका.

इसी तरह देवराज इंद्र द्वारा भी दानवों से स्वर्ग और धरती की रक्षा के लिए वज्रदंती नामक पारद शिवलिंग की स्थापना प्रभास क्षेत्र में की गई थी। इस वजह से वे बिना युद्ध के लिए दानवों को परास्त करने में सफल हुए थे।

SKU: Prabhu013 Category: Tags: , ,
Weight 0.35 g
Dimensions 10 × 7 × 5 cm

You may also like…