Buy Original Narmadeshwar Shivling (नार्मदेश्वर शिवलिंग) Online

  • नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा करने से आपके सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है।
  • इस शिवलिंग की पूजा करने से आपके जन्म जन्मांतर के सभी पाप समाप्त हो जाते है।
  • इसकी पूजा करने से आपको धन-ऐश्वर्य, भोग और मोक्ष प्राप्त होती है।
  • इस शिवलिंग की पूजा सौ गुना फलदायक और अति मंगलकारी है, नर्मदेश्वर शिवलिंग को स्थापित करने के लिए किसी भी प्रकार की प्राण प्रतिष्ठा की आवश्यकता नहीं है इस शिवलिंग को आप अपने घर में स्थापित कर सकते है।
  • इसकी प्रतिदिन पूजा करने से आपके मन को शांति मिलती है। इसकी पूजा करने से आपको सुख की प्राप्ति होती है।
  • By narmadeshwar shivling poverty will be removed from your house, worship this Narmada Nadi Shivling regularly and get bless of god Shiva.
  • Original Narmadeshwar Shivling buy online to remove discord and hatred from your home and worship Narmada Shivling.
  • Get original narmadeshwar shivling online purchase price at ₹399 only from Prabhu bhakti.

399.00

Hurry Up ! Only Few Hours Left.

  • 100% Original + FREE SHIPPING
  • Cash on Delivery Available
days
0
0
hours
0
0
minutes
0
0
seconds
0
0
SKU: prabhubhakti107

नर्मदेश्वर शिवलिंग की उत्पत्ति नर्मदा नदी को साक्षात् भगवान शिव द्वारा दिया गया वरदान है, भगवान शिव के द्वारा नर्मदा नदी को दिए गए वरदान की वजह से नर्मदा नदी से निकलने वाले पत्थर शिवलिंग के आकार के होते है जिसे नर्मदेश्वर शिवलिंग कहा जाता है और आपको Original Narmadeshwar Shivling नर्मदा नदी से ही केवल प्राप्त होता है। शास्त्रों में भी ये कहा गया है कि नर्मदा के कण कण में भगवान् शिव का वास होता है।

narmadeshwar shivling buy online

Product Description:

  • Size: 2 Inches
  • Color: Natural stones (Color may vary)
  • Material: Narmada Stone
  • In the Box: 1 Narmadeshwar Shivling

Key Points:

  • Product will be delivered in 3-7 working days.
  • Actual color might vary slightly from the images shown.
  • We request that you should provide complete address at which someone will be present to receive the package.

नर्मदेश्वर शिवलिंग का महत्व

भगवन शिव की महिमा अपरम्पार है, और शिव हमेशा अपने भक्तों पर अपनी कृपा बनाये रखते है।नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा से सुख-समृद्धि के साथ-साथ बड़ी से बड़ी मुसीबत से भी सुरक्षा मिलती है।और नार्मदेश्वर शिवलिंग को लेकर हमें एक और उल्लेख मिलता है कि बाणासुर ने दिन रात कई वर्षों तक तपस्या कर भोलेनाथ को प्रसन्न किया था और भोलेनाथ से वर माँगा था की वे अमरकंटक पर्वत पर सदा लिंगरूप में ही प्रकट रहेंगे। इसी पावन पर्वत से नर्मदा नदी निकलती है, जिसके साथ पर्वत से बहकर पत्थर आते है, यही वो पत्थर है, जो शिवस्वरूप माने जाते है और उन्हें ही बाणलिंग एवं नर्मदेश्वर शिवलिंग के नाम से लोग पूजते है। नर्मदा नदी के बहाव से पर्वतो के पत्थर घिस कर शिवलिंग का आकर ले लेते है जो की किसी चमत्कार से कम नहीं है क्यूंकि संसार के किसी भी नदी के बहाव से किसी भी पत्थर का आकार शिवलिंग के रूप में परिवर्तित नहीं होता है। नर्मदा नदी से प्राप्त शिवलिंगों का स्वरूप बहुत ही सुंदर व चमकीला होता है यह शिवलिंग अधिक प्रभाव शाली होने के कारण मूल्यवान भी होते हैं। किसी भी अन्यत पत्थर की अपेक्षा नर्मदेश्वर शिवलिंग में कहीं अधिक ऊर्जा समाहित है। 
नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा आपको कई हजार गुना शुभ फल देना वाला है और व्यक्ति समस्त सुखों का भोग करता हुआ शिवलोक तक जाता है।

नर्मदेश्वर शिवलिंग कहा मिलता है

भगवान भोलेनाथ को आप जिस रूप में सच्चे मन और श्रद्धा के साथ पूजते है भोलेनाथ वैसे ही आपको स्वीकार कर लेते है वो अपने किसी भी भक्त को कभी भी निराश नहीं करते है भोले भंडारी सबसे अलग, वैरागी और प्रकृति प्रेमी है उन्हें प्रकृति से इतना लगाव है की वह कैलाश पर्वत पर ही निवास करते है। प्रकृति और भगवान शिव की महिमा का अनूठा फल है, प्रकृति के के अनूठे संयोग से बने इस Narmada Nadi ke Shivling को कुछ लोग Natural Narmadeshwar Shivling के नाम से भी जानते है। नार्मदेश्वर शिवलिंग पवित्र नर्मदा नदी से प्राप्त होता है, नर्मदा भारत की एक मात्र ऐसी नदी है जिसकी धारा उल्टी दिशा यानि पूर्व से पश्चिम की दिशा में बहती है वही अन्य दूसरी नदिया पश्चिम से पूर्व की ओर बहती है। चूँकि नार्मदेश्वर शिवलिंग केवल नर्मदा नदी से ही प्राप्त होता है, इसी कारण से इसका नाम नार्मदेश्वर शिवलिंग पड़ा है। नार्मदेश्वर शिवलिंग का उल्लेख हमें नर्मदा पुराण में भी मिलता है हमारे धर्म ग्रंथो में बताया गया है कि मां नर्मदा भगवान शिव की पुत्री है तथा मां नर्मदा को देवादि देव महादेव द्वारा यह वरदान प्राप्त था की नर्मदा का हर बड़ा या छोटा पषाण (पत्थर) बिना प्राण प्रतिष्ठा किये ही शिवलिंग के रूप में सर्वत्र पूजित होगा, इन्ही पौराड़ीक कथाओं के आधार पर यह मान्यता है की नर्मदा नदी से प्राप्त शिवलिंग ही असली नर्मदेश्वर शिवलिंग (original narmadeshwar shivling) है।। अतः नर्मदा के हर पत्थर को नर्मदेश्वर महादेव शिवलिंग (Narmadeshwar Mahadev Shivling) के रूप में घर में लाकर सीधे ही पूजा अभिषेक किया जा सकता है।

narmadeshwar shivling buy online

नर्मदेश्वर शिवलिंग के फायदे

  • Buy Shivling Because of keeping Narmadeshwar Shivling in the house brings happiness and peace in the family.
  • इसकी पूजा करने से आपके मन में हमेशा सकारात्मक विचार आते है
  • इसकी पूजा करने से इंसान मृत्यु के बाद मोक्ष को प्राप्त करता है।
  • नियमित रूप से नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा करने से आप ऊर्जावान महसूस करते है।
  • इसकी पूजा करने से आपके अंदर अहंकार का भाव नहीं आता है।
  •  नियमित रूप से ‘त्र्यम्बकं मन्त्र’ का जाप करते हुए यदि आप नर्मदेश्वर शिवलिंग पे जल चढ़ाते है, तो आपको तमाम प्रकार की बिमारियों से मुक्ति मिल जाती है
  • यदि आप अपनी दरिद्रता दूर करना चाहते है तो आपको नर्मदेश्वर शिवलिंग को गन्ने के रस से अभिषेक करना चाहिए।

नर्मदेश्वर शिवलिंग की स्थापना

  • प्रातःकाल स्नान करके शिवलिंग को एक थाल या बड़े पात्र में रखें।
  • पूजन के लिए पूर्व दिशा की ओर मुख करके, आसन पर बैठकर नर्मदेश्वर शिवलिंग की पूजा करें।
  • इसके बाद शिव जी के मंत्रों ‘ॐ नम: शिवाय’ या प्रणव का जप करते हुए बेलपत्र और जल की धारा अर्पित करें।
  • थाल या पात्र में एकत्रित जल को पौधों में डाल सकते हैं।

Things to keep in mind while shopping online Narmadeshwar Shivling for home-in hindi

Narmadeshwar Shivling For Home – घर में स्थापित किया जाने वाला शिवलिंग बहुत ज्यादा बड़ा नहीं होना चाहिए, यह हाथ के अंगूठे के बराबर या अधिक से अधिक 6 इंच का होना चाहिए, मंदिर में आप कितने भी बड़े शिवलिंग की स्थापना कर सकते है। शिवलिंग को घर के मन्दिर में उत्तर की ओर मुख करके स्थापित करना चाहिए ।

original narmadeshwar shivling buy online
Buy Original Narmadeshwar Shivling (नार्मदेश्वर शिवलिंग) Online
Buy Original Narmadeshwar Shivling (नार्मदेश्वर शिवलिंग) Online

399.00

Prabhubhakti
Enable registration in settings - general