Maha Mritunjay Kavach

कलयुग में किसी ब्रह्मास्त्र से कम नहीं है महामृत्युंजय कवच, गले में धारण करने से होता है ये..

शास्त्रों और पुराणों में असाध्य रोगों से मुक्ति और अकाल मृत्यु से बचने के लिए महामृत्युंजय जाप करने का विशेष वर्णन किया गया है। महामृत्युंजय भगवान शिव को खुश करने का मंत्र है। इसके प्रभाव से इंसान मौत के मुंह में जाते-जाते बच जाता है, मरणासन्न रोगी भी महाकाल शिव की अद्भुत कृपा से जीवन पा लेता है।

बीमारी, दुर्घटना, अनिष्ट ग्रहों के प्रभावों से दूर करने, मौत को टालने और आयु बढ़ाने के लिए सवा लाख महामृत्युंजय मंत्र जप करने का विधान है। जब व्यक्ति जप न कर सके, तो मंत्र जप किसी योग्य पंडित से भी कराया जा सकता है और अगर संभव ना हो सके तो महामृत्युंज कवच गले में धारण कर सकता है और ये कवच व्यक्ति के शरीर के पास सुरक्षा कवच बना देता है जिससे मृत्यु उसका कुछ नहीं बिगड़ सकती है.

महामृत्युंजय को मृत संजीवनी के नाम से भी जाना जाता है क्यूंकि समुद्र मंथन के बहुप्रचलित आख्यान देवासुर संग्राम के समय शुक्राचार्य ने अपनी यज्ञशाला मे इसी महामृत्युंजय के अनुष्ठानों का उपयोग देवताओं द्वारा मारे गए राक्षसों को जीवित करने के लिए किया था।

1,250.00

days
0
0
hours
0
0
minutes
0
0
seconds
0
0

महामृत्युंजय कवच को धारण करने से जपकर्ता की देह सुरक्षित होती है। जिस प्रकार सैनिक की रक्षा उसके द्वारा पहना गया कवच करता है उसी प्रकार साधक की रक्षा यह कवच करता है। इस कवच को लिखकर गले में धारण करने से शत्रु परास्त होता है। इसका प्रातः, दोपहर व सायं तीनों काल में जप करने से सभी सुख प्राप्त होते हैं। इसके धारण मात्र से किसी शत्रु द्वारा कराए गए तांत्रिक अभिचारों का अंत हो जाता है। धन के इच्छुक को धन, संतान के इच्छुक को पुत्र रत्न की प्राप्ति होती है।

घर में कलेश रहता हो, पारिवारिक दुःख चल रहा हो या घर में अकाल म्रत्यु हो रही हो तब ऐसे में नित्य रोज सुबह-शाम महा मृतुन्जय मन्त्र का जाप किया जाये या फिर परिवार के सदस्य महामृत्युंजय कवच धारण करे, ऐसा करने से पीड़ा जड़ से खत्म हो जाती है।

किसी भी कारण से यदि धन का नुकसान हो रहा है या आपका बिज़नेस नहीं चल पा रहा है तो महा मृतुन्जय कवच से लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

जमीन-जायदाद के बँटवारे की संभावना हो या किसी महामारी से लोग मर रहे हों। ऐसे समय में महा मृतुन्जय मन्त्र का प्रयोग ब्रह्मास्त्र का कार्य करता है।

यदि कोई मनुष्य किसी बड़ी बीमारी से पीड़ित है और डॉक्टर इलाज का भी ज्यादा फायदा नहीं हो रहा हो तो भगवान शिव के मृतुन्जय कवच मन्त्र से लाभ प्राप्त किया जा सकता है। यहाँ तक की यह मन्त्र म्रत्यु को भी टाल देता है।

Specification: Maha Mritunjay Kavach

Weight 0.035 g
Dimensions 10 × 5 × 6 cm
Maha Mritunjay Kavach
Maha Mritunjay Kavach

1,250.00

Prabhubhakti
Enable registration in settings - general