Buy Original Kurma Ring Online

  • यह कुरमा की रिंग आत्म-सम्मान के विकास में सहायता करती हैं।
  • ऐसा माना जाता है कि यह कछुआ के आकार की बनी हुई अंगूठी किसी व्यक्ति को उसके पिछले दोषों के प्रायश्चित के साथ-साथ धन और सफलता लाने का काम करती है।
  • कछुए बहुत लंबे समय तक जीवित रहते हैं और किसी भी जीवित प्राणी की तुलना में उनकी उम्र सबसे अधिक होती है। नतीजतन, वह दीर्घायु और अच्छे स्वास्थ्य का भी प्रतीक है।
  • हमारे भारतीय शास्त्रों की ताम्रलिखी के अनुसार कछुआ को प्रेम, सकारात्मकता और उन्नति का स्रोत माना जाता है।
  • कछुआ देवी लक्ष्मी से जुड़ा हुआ है क्योंकि इसे भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है। इस अंगूठी को धारण करने से आपको सौभाग्य और समृद्धि की प्राप्ति होती है।
  • कछुआ धैर्य, शांति, धीरज और धन का प्रतिनिधित्व करता है। इसलिए यह अंगूठी धारण करना बहुत ही शुभ होता है।
    वास्तु शास्त्र में इस अंगूठी को पहनना बहुत ही लाभकारी माना गया है।
  • इसे धारण करने से जीवन के अनेक दोष दूर होते हैं और आत्मबल बढ़ता है।
  • इस अंगूठी को पहनने से पूरे शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और तरक्की के रास्ते भी खुलते हैं।

399.00

Hurry Up ! Only Few Hours Left.

  • 100% Original + FREE SHIPPING
  • Cash on Delivery Available
days
0
0
hours
0
0
minutes
0
0
seconds
0
0
SKU: prabhubhakti032

Kurma ring उस कष्टदायक समय का एक ऐसा उपाय है जब सब कुछ अस्त-व्यस्त सा लगने लगता है, लाख कोशिशों के बाद भी मेहनत का फल नहीं मिलता और मन मायूस सा हो जाता है। हमारा भारतीय ज्योतिष, जो हमारी सभ्यता का एक अंतर्निहित देवसेवक है। इसके पास सभी तरह की निराशाओं का उपाय है। यह सभी सभ्यताओं में सबसे पुराना भी है। इसी तरह, हिंदू पौराणिक लेखन में भगवान विष्णु के आशीर्वाद को उनके कछुआ रूप यानि kurma के बारे मे विस्तार से बताया गया है। कुर्मा रिंग एक प्रकार का अचूक यन्त्र है, जो अपनी कृपा से एक व्यक्ति को रातों-रात राजा, एक अधिकारी को एक मंत्री और एक व्यक्ति को एक अनपढ़ विद्वान में बदल देता है।

Product Description:

  • Size: Adjustable
  • Color: Golden
  • Material: Brass (Premium Quality)
  • Quantity: 1 Ring

Key Points:

  • Product will be delivered in 3-7 working days.
  • Actual color might vary slightly from the images shown.
  • We request that you should provide complete address at which someone will be present to receive the package.

कुरमा रिंग क्या होती है ?

भारतीय वैदिक ज्योतिष में मेरु या कछुआ एक महत्वपूर्ण दैवीय चरित्र है। हिंदू धार्मिक शिक्षाओं के अनुसार, कछुआ भगवान विष्णु का अवतार है और धन और समृद्धि के अंतहीन प्रवाह का प्रतिनिधित्व करता है। kurma ring सिर्फ देखने में सुंदर नहीं हैं होती है अपितु वह विभिन्न तरीकों से धन और समृद्धि को प्राप्त करने का एक आसान साधन भी हैं। कछुआ को हमारे जीवन में प्यार, बंधन और संतोष को दर्शाने वाला माना जाता है। तर्जनी पर कछुआ अंगूठी बहुत फायदेमंद होती है। शास्त्रों में कछुए को लंबी आयु और निरंतर प्रचुरता का प्रतीक माना गया है। इसलिए tortoise ring जीवन में आ रही तरह- तरह की परेशानियों जैसे बढ़ती उम्र में शादी ना होना, मनपसंद नौकरी ना मिलना, पति- पत्नी में कलेश, पारिवारिक विवाद, व्यवसाय में घाटा आदि के लिए अत्यंत लाभदायक है। tortoise ring for men को पहनने के पल भर में जातक को इसका असर देखने को मिलता है।

ज्योतिषी शास्त्र में kurma ring का क्या महत्व है ?

ज्योतिषी और विद्वानों के अनुसार tortoise silver ring for gents पहनने वाले में आंतरिक प्रतिभा विकसित करने की क्षमता उत्पन्न हो जाती है। यह व्यावसायिक और रचनात्मक क्षेत्रों में काम कर रहे लोगों के लिए बेहद फायदेमंद साबित होती है। दूसरी ओर, कछुआ फेंगशुई में भी सौभाग्य, धन और दीर्घायु का प्रतीक है। जब कोई कछुआ के आकार की अंगूठी पहनता है, तो उसे कई तरह के फायदे मिलते हैं। यह turtle ring for men हमेशा लंबी उम्र के लिए दाहिने हाथ की मध्यमा या तर्जनी में पहननी चाहिए। इतना ही नहीं, वास्तु शास्त्र में महिलाओं के लिए tortoise ring for ladies को विशेष रूप से शुभ माना गया है। यह अंगूठी आपके जीवन में दोषों को संतुलित करने में सहायता करती है। ज्योतिष के अनुसार कछुआ अंगूठी का सबसे बड़ा अनुकूल लाभ आत्मविश्वास में वृद्धि है। यह kurma ring उन लोगों के लिए अनुशंसित है जिनमें आत्मविश्वास की कमी होती है।

Original Kurma Ring Online
Original Kurma Ring Online

Kurma ring किन राशियों को धारण करना चाहिए

दरअसल, कुछ राशियों में ज्योतिषियों के अनुसार kurma ring को पहनने से सबसे ज्यादा फायदा होता है। हालांकि, इनमें से कई राशियाँ ऐसी भी हैं, जिनका इसको धारण करने से जीवन पर कोई सकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता है। यह ध्यान देने योग्य है कि कुछ राशियों को पूरी तरह से कछुए की अंगूठी पहनने से बचना चाहिए क्योंकि यह उनके लिए अशुभ मानी जाती है। मेष, कन्या, वृश्चिक और मीन राशियाँ उनमें से एक है जिन्हे यह अंगूठी धारण नहीं करनी चाहिए।

दक्षिणावर्ती शंख के फायदे

  • यह चमत्कारी रिंग जातक के अंदर आत्मसम्मान के विकास में मदद करती है।
  • कछुआ के आकार की यह अंगूठी व्यक्ति के लिए धन और सफलता लाने के साथ-साथ उसकी पिछली जन्म की गलतियों का प्रायश्चित करने के लिए पहनी जाती है।
  • कछुए एकमात्र जीवित प्राणी हैं जो बहुत लंबे समय तक जीवित रहते हैं। उनके पास किसी भी जीवित प्राणी की सबसे लंबी उम्र है। नतीजतन, वह लंबे जीवन और उत्कृष्ट स्वास्थ्य का प्रतीक है।
  • कछुआ को भारतीय पौराणिक कथाओं में प्यार, खुशी और विकास के प्रतीक के रूप में देखा जाता है।
  • चूंकि इसे भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है, इसलिए कछुआ देवी लक्ष्मी से जुड़ा हुआ है। इस अंगूठी को पहनने से आपको सौभाग्य और धन की प्राप्ति होगी।

कुरमा रिंग को पहनने की विधि

  • -इस अंगूठी के लिए अनुकूल धातु केवल सोना और चांदी है, ये धातुएं दैवीय ऊर्जा को बरकरार रखने में मदद करती हैं।
  • -इस अंगूठी को पहनने से पहले कच्चे दूध में भिगोकर देवी लक्ष्मी की मूर्ति के सामने रख दें ताकि अंगूठी को उनका आशीर्वाद मिल सके।
  • -कछुए की अंगूठी पहनते समय हमेशा याद रखें कि कछुए का सिर हमेशा अंदर की ओर या इसे पहनने वाले की ओर होना चाहिए। यदि कछुए का मुख बाहर की ओर है तो धन-समृद्धि आने के बजाय चली जाती है।
  • -अंगूठी हमेशा दाहिने हाथ की मध्यमा या तर्जनी में पहननी चाहिए। कछुए की अंगूठी को धारण करने के बाद नहीं घुमाना चाहिए। क्योंकि जब आप कछुए की अंगूठी घुमाते हैं तो कछुए का सिर भी अपनी दिशा बदल सकता है जिससे आपकी समृद्धि और धन आने में बाधा आ सकती है।
Original Kurma Ring Online
Buy Original Kurma Ring Online
Buy Original Kurma Ring Online

399.00

Prabhubhakti
Enable registration in settings - general