Sale!

Durga Kavach

1,100.00 700.00

आज हम आपको बताने जा रहे है ऐसे कवच के बारे में जो साक्षात् माँ दुर्गा का ही रूप है. शास्त्रों में इसे संसार का सबसे शक्तिशाली कवच बताया गया है जिसे भेदना खुद काल के वश में भी नहीं. इस पुरे संसार को चलाने वाली ब्रह्माण्ड में समाहित ऊर्जा का साक्षात् रूप है देवी दुर्गा. इस कवच में माँ दुर्गा की वह विशाल ऊर्जा समाहित है. दोस्तों माँ दुर्गा का यह कवच इसलिए भी ख़ास है क्योकि 18 पुराणों में से सबसे शक्तिशाली मार्कण्डेय पुराण के 47 चमत्कारी श्लोक इस कवच में यंत्र रेखाओ के रूप में अंकित किया गया है. इसलिए इस कवच को धारण करते ही है एक असीम ऊर्जा का अनुभव होता है. आप भले ही कितनी भी बड़ी मुसीबत से घिरे हो इस कवच को पहनते ही वह मुसीबत हमेसा के लिए समाप्त हो जायेगी. इस कवच का निर्माण ही इस प्रकार हुआ है की यह आपकी पैसो से संबंधित समस्या, पति पत्नी की बिच मनमुटाव, शादी में आ रही दिक्कत, प्यार में दिक्कत या फिर कोई व्यक्ति बहुत ज्यादा परेशानी से ग्रसित हो इन सभी समस्याओ को तुरंत काट आपके जीवन में खुशिया एवं सुख सम्पत्ति का यह वास लाता है.

इस कवच की विशेषता यहां तक है की स्वयं ऋषि मुनि प्राचीन समय में अपने आश्रम को और यज्ञ में विघ्न बंधा ना आये इसलिए किसी ना किसी रूप में धारण किया करते थे. इस कवच में माँ दुर्गा सहित उनके सभी शक्तिशाली 9 रूपों का सचित्र वर्णन है. इन सभी रूपों को आप दुर्गा कवच में ही विध्यमान अत्याधुनिक लेंस की सहायता से देख सकते है और माता के सभी रूपों का दर्शन कर सकते है.

SKU: Prabhu015 Categories: , Tags: ,

माँ दुर्गा कवच असल में माँ के शक्तिशाली मंत्रो का संग्रह है जिसे धारण करने पर यह अपनी ऊर्जा के माध्यम से हमारे शरीर को सभी नकरात्मक ऊर्जा और बुरी शक्ति से बचाता है. दुर्गा माँ के इस कवच में मौजूद मन्त्रों में हर प्रकार की नाकारात्मक, प्रतिकूल कंपन को सकारात्मक और आकर्षण कंपन में बदलने की ताकत होती है. ऐसी मान्यता है कि जो भी भक्त इसे धारण करता है उसमे एक दिव्य सकारात्मक ऊर्जा का समावेश हो जाता है. ऐसे व्यक्ति में अपने बात को रखने की गजब की शक्ति होती है. मानो साक्षात् उसके वाणी में माँ सरस्वती विराजमान हो गई हो. वह अपनी बात हर किसी से मनवा सकता है. यानी उसकी कही बात को कोई मना नहीं कर पाता. उसके चेहरे में सूर्य के समान तेज होता है तथा उसका कॉन्फिडेंस बहुत अधिक बढ़ जाता है.

माता लक्ष्मी का आशीर्वाद उसके ऊपर होता है यानि उसे हर जगह से धन प्राप्ति के अवसर प्राप्त होते है. माँ दुर्गा के इस कवच में जो यंत्र निर्मित है उसे भेदना किसी भी बुरी शक्ति के बस की बात नहीं. ऐसी मान्यता ही इस यंत्र में मृत्यु को तक मात देनी की ताकत है. ऐसे में कोई भक्त जब इसे धारण करता है तो वह हर प्रकार की बुरी दुर्घटना से सुरक्षित हो जाता है. इसके साथ ही यह दुर्गा कवच हमारे विद्य्वान पंडितो द्वारा यज्ञ के माध्यम से अभिमंत्रित किया गया है जिस कारण इस दुर्गा कवच की शक्ति कई गुना अधिक हो चुकी है. और इसका प्रभाव आपको कई गुना लाभ दिलाएगा. वैसे तो आप देवी दुर्गा के इस कवच को किसी भी दिन धारण कर सकते है परन्तु इसे धारण करने का सबसे उपयुक्त दिन है शुक्रवार. शुक्रवार की सुबह स्नान इत्यादि करने के बाद आप दुर्गा कवच को अपने घर में पूजा स्थान पर रख दे. एक लाल रंग के कपडे में आपको दुर्गा कवच अपने मंदिर में रखना है. अब माता के इस मन्त्र का 3 बार आप जाप करे. और प्रत्येक जाप के साथ आपको अपने हाथ में थोड़ा सा गंगा जल लेना है. जैसे ही मन्त्र जाप पूर्ण हो उस गंगा जल को आप कवच में अर्घ दे. माता का मन्त्र इस प्रकार है.

सर्वाबाधाविनिर्मुक्तो धन धान्य सुतान्वित: |
मनुष्यो मत्प्रसादेन भविष्यती न संशय: |

मन्त्र जाप पूर्ण होने के पश्चात आप इस कवच को अपने गले में धारण कर ले. इस पहनते ही आप खुद एक दिव्य ऊर्जा को अपने अंदर महसूस करेंगे. माता आपकी हर परेशानी को हमेसा के लिए समाप्त कर देगी. और धन धान्य से आपका जीवन परिपूर्ण हो जाएगा. दोस्तों यदि आप दुर्गा कवच खरीदना चाहते है तो आप हमें

Weight 0.035 g
Dimensions 21 × 15 × 6 cm