हर कोई व्यक्ति चाहता है की उसके पास पर्याप्त धन हो और वह हमेसा धनवान बना रहे परन्तु लोग लाखो प्रयासों के बावजूद मन मुताबिक़ परिणाम प्राप्त नहीं कर पाते. इसलिए धन के अभाव में उन्हें अपना जीवन निर्वाहित करना पड़ता है. उनके द्वारा कमाया पैसा उनके खर्च जैसे किसी बिमारी के इलाज या बिजली पानी के बिल या किसी अन्य परेशानी में खत्म हो जाता है.वह अपने भविष्य के लिए पैसे बचा ही नहीं पाता है. अपने पास पैसो की कमी के कारण हमेसा अपने मन को मारते रहते है और जीवन का सही आनंद नहीं उठा पाते. ज्योतिष और वास्तु शास्त्र दोनों के अनुसार यह बताया गया है की यह सभी व्यक्ति के कुंडली में चल रहे अशुभ ग्रह के कारण ही होता है जो उसकी तरक्की में मुख्य रूप से बाधा उतपन्न करते है.

कुंडली के अशुभ प्रभावों के कारण ही व्यक्ति को अनेक प्रकार के कष्ट जैसे आप पर कर्ज बहुत ज्यादा हो जाना, नौकरी या फिर दूकान अच्छी नहीं चल रही हो. पैसो की समस्या, बार बार घर वालो का या खुद बीमार होना, बच्चे का दिमाग गलत कार्यो में लगना या उसका पढ़ाई में ध्यान ना देना आदि. दोस्तों वास्तु शास्त्र में ऐसा कहा गया है की यदि आपके कुंडली में ग्रहो की स्थिति अशुभ है तो इसका कारण आपका घर है. घर में नकरात्मक ऊर्जा का प्रभाव अधिक बढ़ जाने से व्यक्ति को भाग्य और कुंडली संबंधित परेशानी होने लगती है. इससे बचने के लिए वास्तु शाश्त्र में अनेक उपाय भी बताये गए है, पर इन सब में सबसे सही और अचूक उपाय है क्रिस्टल कछुआ. दोस्तों दरअसल जब हम क्रिस्टल कछुआ को अपने घर में रखते है तो यह एक देवीय ऊर्जा का निर्माण करता है जो व्यक्ति के अशुभ ग्रहो को उसके अनुकूल बनाता है. और इसके प्रभाव से व्यक्ति के जीवन के सभी समस्याओ का अंत होने लगता है. यह बात बहुत कम लोग जानते है की वास्तु विज्ञान और खासकर फेंग शुई में इसे ख़ास स्थान प्राप्त है.

चीन देश में फेंग शुई शास्त्र का बहुत महत्वपूर्ण स्थान है. हमारे हिन्दू सनातन धर्म तथा फेंग शुई दोनों में ही क्रिस्टल कछुआ को धन आवक बताया गया है यानी की इसके घर में वास से घर में आर्थिक उन्नति बढ़ जाती है. दोस्तों क्रिस्टल कछुवे को घर में रखने मात्र से आप अपने कई कष्टों को दूर कर सकते है. जब इसे आप अपने घर में रखते है तो इससे सकरात्मक ऊर्जा का संचार आपके घर में होता है जो घर की नकरात्मक ऊर्जा को घर में बनने नहीं देता है. बार बार बीमार होना , नौकरी में तरक्की ना मिलना या कार्यो में असफलता यह सभी नकरात्मक ऊर्जा का घर में अस्तित्व होने के संकेत है. अतः क्रिस्टल कछुआ आपको आपके परिवार को और आपके घर को नकरात्मक ऊर्जा से बचाव के लिए सुरक्षा कवच की तरह काम करेगा. जिस घर में यह होता है वहा सुख समृद्धि का वास होता है. फेंगशुई के अनुसार वास्तु की इस अमूल्य धरोहर से हम लाभ लेकर इसका भरपूर फायदा उठा सकते है.

यह धन प्राप्ति का सूचक होता है. यदि किसी व्यक्ति को धन से संबंधित परेशानी है तो वह अवश्य क्रिस्टल कछुवा अपने घर में रखे. दोस्तों क्रिस्टल कछुआ को आप वैसे तो किसी भी दिन अपने घर में रख सकते है परन्तु बृहस्पतिवार का दिन इसे घर में स्थापित करने का उत्तम दिन माना गया है. भगवान विष्णु ने अपने सभी अवतारों में एक कछुवा अवतार भी लिया था. तथा भगवान विष्णु का दिन है बृहस्पतिवॉर इसलिए इसे घर में स्थापित करना आपको दोगुना फल देगा. खासकर आप इसे अपने बिस्तर के पास रखे .. क्योकि जब आपको सोयेंगे तो यह आपको अगले दिन के लिए सकरतामक ऊर्जा से भर देगा. इसे आप घर या ऑफिस में उत्तर दिशा की तरफ रखे. ध्यान रहे इसका मुँह घर की घर के अंदर की तरफ हो इसके साथ ही यह भी ध्यान रखे की इसे सूखे में रखने के बजाय किसी कांच की कटोरी में पानी डाल उसमे आप क्रिस्टल कछुआ रख सकते है. इसे स्थापित करने के दिन से ही आपको अपने व्यापार में लाभ, अपने जिंदगी में उन्नति दिखने लगेगी.

Prabhubhakti
Enable registration in settings - general