Locket

Om Shiv Trishul Rudraksh Barcelet with Mahakal Kavach

साक्षात् भगवान शिव का आशीर्वाद है क्योकि इस कवच में उपस्थित है 12 ज्योर्तिलिंगो में सबसे मुख्य ज्योतिलिंग उज्जैन के महाकलेशश्वर मंदिर की भस्म जो सम्पूर्ण शिव मंदिरो की भस्मो में से सबसे पिवत्र मानी जाती है।

₹3199.00

₹1099.00

(323 Reviews)

– 100% असली और शुद्ध रुद्राक्ष से निर्मित

– Top Quality

– Free Shipping across India

– Cash on Delivery Available

Hurry Up ! Only Few Hours Left.

  • 100% Original + FREE SHIPPING
  • Cash on Delivery Available
days
0
0
hours
0
0
minutes
0
0
seconds
0
0

क्यों धारण करे महाकाल कवच ?

महाकाल कवच की खासियत यह है की इसमें एक अनोखे तरह का इस्पंदन होता है जो आपके लिए आपकी ही ऊर्जा का एक सुरक्षा कवच बना देता है . यह सुरक्षा कवच आपको अंदर से बहुत ज्यादा मजबूत बना देता है एक अलग तरह का चमक और तेज आपके चहेरे पर होता है और यह आपके आत्मविशवास को कई गुना बढ़ा देता है .
इसके प्रभाव से कोई भी तांत्रिक या काली शक्ति आप पर हावी नहीं हो शक्ति .क्योकि यह स्वयं महाकाल की भस्म है जो आपके पास आने वाली हर परेशानी , हर संकट को भस्म कर देती है.इसके साथ ही इस कवच में है सम्लित है महादेव का एक और आशीर्वाद – पंचमुखी रुद्राक्ष
MAHAKAL-KAWACH-–-3

महाकाल कवच के फायदे

महाकाल कवच की खासियत यह है की इसमें एक अनोखे तरह का इस्पंदन होता है जो आपके लिए आपकी ही ऊर्जा का एक सुरक्षा कवच बना देता है
  • आपके भीतर के सभी नकरात्मकता एवं अहंकार को मारता है।
  • आत्मा को शरीर से जोड़ता है।
  • हर प्रकार के कीटाणु एवं वाइरस से आपके शरीर की रक्षा करता है।
  • महाकाल की भस्म है जो आपके पास आने वाली हर परेशानी, हर संकट को भस्म कर देती है।

महाकाल कवच पूजा विधि

बहुत ही आसान विधि के द्वारा आप इसे धारण कर सकते है। आर्डर करने के बाद जब आपको यह प्राप्त होगा तो इसकी पूजा करने के लिए पूर्व दिशा की ओर मुख करके आसन पर बैठकर एक बड़े कटोरे या थाली में रखकर ‘ॐ नम: शिवाय’ का जप करते हुए जल, कच्चा दूध या गंगाजल से स्नान कराएं।

आपको बता दें कि कोई भी महाकाल कवच तब तक व्यर्थ है जब तक कि इसे अभिमंत्रित न किया जाए।

MAHAKAL-KAWACH-–-4

यहाँ से आर्डर क्यों करे ?

किसी विशेष मनोकामना पूर्ति के लिए जो चीजे आप धारण करना चाहते है उसका अभिमंत्रित होना बहुत जरुरी होता है और अगर इसी चीज को हम साधारण भाषा में समझाए तो जिस प्रकार से मंदिर में रखी भगवान् की मूर्ति का प्रभाव होता है उतना प्रभाव रास्ते में कलाकार द्वारा बनाई गयी मूर्ति का नहीं होता। दोनों मूर्ति है तो एक जैसी लेकिन मंदिर में मूर्ति रखने से पहले उसको अभिमंत्रित किया जाता है जिसके कारण उसका प्रभाव बहुत ज्यादा होता है।

ठीक इसी प्रकार आपने इंटरनेट पर इसे बहुत सारी जगह देखा होगा और हो सकता है उनकी कीमत भी कम हो लेकिन हमारे यहाँ से इसे पूर्ण रूप से अभिमंत्रित किया जाता है जिसके कारण इसका प्रभाव कई गुना बढ़ जाता है। आप इस वीडियो में देख सकते है की किस प्रकार मंत्रो से अभिमंत्रित किया जाता है। 

100% Original | Free Shipping | Cash on Delivery Available

Prabhubhakti
Enable registration in settings - general