Locket

Ashta Lakshmi Kavach + Lakshmi Coin + Kuber Kunji + Crystal Kachua (अष्ट लक्ष्मी कवच + लक्ष्मी कॉइन + कुबेर कुंजी + क्रिस्टल कछुआ)

इस कवच को गले में पहने से ही होगी धन की वर्षा… मां लक्ष्मी करेंगी आपकी गरीबी के दुखों को दूर। साथ ही व्यापार में होगा फायदा। मां लक्ष्मी का बहुत ही लाभदायक लॉकेट, इसक कवच को धारण करने से होगी सुख संपत्ति की वर्षा । माता लक्ष्मी करेंगी आपके दुखों के संकट को दूर।

 

₹3199.00

₹799.00

(323 Reviews)

– 100% असली और शुद्ध अष्ट लक्ष्मी कवच

– Top Quality

– Free Shipping across India

– Cash on Delivery Available

जल्दी आर्डर कीजिये सिर्फ कुछ ही घंटे बाकी ⏳

FREE SHIPPING + 100% Original
days
0
0
hours
0
0
minutes
0
0
seconds
0
0

क्यों धारण करे अष्ट लक्ष्मी कवच?

इस ख़ास कवच में छिपी है भंडार की शक्ति जो शीघ्र ही आपको धनवान बनती है।

  • अब आपका धनवान होने का सपना होगा पलभर में पूरा।
  • अष्ट लक्ष्मी कवच हमारे ज्ञानी पंडितो द्वारा मंत्रो से सिद्ध किया गया है। जिससे इसकी शक्ति और बढ़ जाती है।
  • दिवाली के दिन इससे पहनने से ये आपको कई लाभ भी देता है।

आज ही मंगवाए अष्ट लक्ष्मी कवच।

Ashta Lakshmi + Kunji  2

अष्ट लक्ष्मी कवच पूजा विधि

अगर आप सही रूप से अष्ट लक्ष्मी कवच को इस्तेमाल करना चाहते हैं और मां लक्ष्मी को खुश करना चाहते हैं। तो इसकी पूजा किसी भी दिन कर सकते हैं। मगर शुक्रवार का दिन ज्यादा शुभ माना जाता है। क्योंकि शुक्रवार का दिन मां लक्ष्मी जी का दिन है । 

इसकी पूजा के लिए पूर्व दिशा में जमींन पर एक नया वस्त्र बिछाकर उस वस्त्र पर गंगाल से छिड़काव कर अष्ट कवच को उस शुद्ध कपड़े पर रख दें। और आप भी पूजा वाले आसन पर बैठ जाएं। इसके बाद कवच को गंगाजल से शुद्ध करें फिर उस पर रोली से उस पर टीका लगाएं फिर कवच अक्षत(चावल) अर्पित करें। उसके बाद कुछ गुलाब के फूल भी अर्पित करें। 

इसके बाद घी का दीपक जलाकर ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्री सिद्ध  लक्ष्म्यै नम: का 108 बार जाप करें। जाप करने के बाद दीपक से मां लक्ष्मी की आरती से पूजा करें। फिर उसके बाद इस कवच को धारण कर लें। इस कवच को धारण करते ही घर शीघ्र ही धन की वर्षा होने लगेगी। साथ ही सुख-शांति बनी रहेगी। 

यहाँ से आर्डर क्यों करे ?

किसी विशेष मनोकामना पूर्ति के लिए जो चीजे आप धारण करना चाहते है उसका अभिमंत्रित होना बहुत जरुरी होता है और अगर इसी चीज को हम साधारण भाषा में समझाए तो जिस प्रकार से मंदिर में रखी भगवान् की मूर्ति का प्रभाव होता है उतना प्रभाव रास्ते में कलाकार द्वारा बनाई गयी मूर्ति का नहीं होता। दोनों मूर्ति है तो एक जैसी लेकिन मंदिर में मूर्ति रखने से पहले उसको अभिमंत्रित किया जाता है जिसके कारण उसका प्रभाव बहुत ज्यादा होता है।

ठीक इसी प्रकार आपने इंटरनेट पर इसे बहुत सारी जगह देखा होगा और हो सकता है उनकी कीमत भी कम हो लेकिन हमारे यहाँ से इसे पूर्ण रूप से अभिमंत्रित किया जाता है जिसके कारण इसका प्रभाव कई गुना बढ़ जाता है। आप इस वीडियो में देख सकते है की किस प्रकार मंत्रो से अभिमंत्रित किया जाता है। 

100% Original | Free Shipping | Cash on Delivery Available

Free Delivery for Prepaid Orders

प्रीपेड ऑर्डर्स के लिए फ्री डिलीवरी

Prabhubhakti
Enable registration in settings - general